अब एसआईटी करेगी नगर परिषद के बैंक खाते के खाली होने की जांच

नगर परिषद के खाते (प्रधानमंत्री आवास योजना) से लाखों रुपये गायब होने के मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी गई है। इस विशेष जांच दल में चार पुलिस कर्मी शामिल हैं, डीएसपी पवन कुमार की अगुवाई में यह टीम काम करेगी। जांच शुरू कर दी गई है। अब शीघ्र ही मामले के सुलझने की उम्मीद जताई जा रही है। प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए नगर परिषद बहादुरगढ़ ने आईडीबीआई बैंक में खाता खुलवाया था। इस खाते से 23 जुलाई से लेकर 17 अगस्त तक के बीच 88 लाख 68 हजार रुपये चेक के जरिये किसी दूसरे खाते में ट्रांसफर कर दिए गए थे। दो और चेक लगाकर 20 लाख रुपये निकालने का प्रयास किया था, लेकिन ये चेक क्लीयर नहीं हो पाए। रिकॉर्ड जांच के दौरान यह मामला सामने आया था। बिहार के गोपालगंज स्थित पीएनबी में किसी राम आश्रय के खाते में यह मोटी राशि गई है। तमाम आठ चेक दिल्ली के ईस्ट पटेल नगर स्थित पीएनबी में लगाए गए थे। इस संंबंध में केस तो दर्ज हो चुका है, लेकिन मामला पूरी तरह से उलझा हुआ है।

 इस मामले में जांच करते हुए सिटी पुलिस ने नगर परिषद, स्थानीय आईडीबीआई और दिल्ली के पटेल नगर स्थित पीएनबी से कुछ डाटा भी लिया था। बताते हैं कि अभी कुछ डाटा पुलिस को नहीं मिल पाया है। चेक बुक कहां है, ये अब भी सवाल ही बना हुआ है। मामला न केवल बहादुरगढ़ बल्कि पूरे हरियाणा में चर्चा का विषय बना हुआ है। पुलिस प्रशासन भी इस मामले को लेकर गंभीर है। इसी के चलते अब इस केस को सुलझाने के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। यह टीम डीएसपी पवन कुमार की अगुवाई में काम करेगी। टीम ने केस पर काम करना शुरू कर दिया है। फिलहाल टीम रिकॉर्ड इकट्ठा कर रही है। कई पहलुओं को ध्यान में रखते हुए टीम जांच करेगी। टीम मामले से जुड़े दस्तावेज जुटा रही मामले में जांच के लिए अब स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम का गठन किया गया है। टीम मामले से जुड़े दस्तावेज जुटा रही है। जांच शुरू कर दी गई है। जल्द से जल्द इस केस को सुलझाने का प्रयास रहेगा। – पवन कुमार, डीएसपी, बहादुरगढ़

Leave a Comment