अब स्टेशन पर दस सेकेंड ज्यादा ठहरेगी मेट्रो, जानें जरूरी नियम

पांच महीने से अधिक समय के बाद आखिरकार सात सितंबर को मेट्रो रेल चलने जा रही है। बहादुरगढ़-दिल्ली रूट (ग्रीन लाइन) पर मेट्रो दस सितंबर से सुबह-शाम चलेगी। यात्री  जब भी मेट्रो में सफर करेंगे, उन्हें कुछ नया अहसास होगा। फिलहाल यात्रा कैशलेस रहेगी, इसके अलावा मेट्रो में प्रवेश करने के लिए ज्यादा मारामारी का सामना भी नहीं करना पड़ेगा। अक्सर मेट्रो स्टेशनों पर सुबह-शाम यात्रियों की भीड़ बढ़ जाती है। ऐसे में गाड़ी में घुसने के लिए यात्रियों में मारामारी की स्थिति पैदा हो जाती है। चूंकि अब कोरोना से बचने के लिए फिजिकल डिस्टेंस जरूरी है तो इस दिशा में भी डीएमआरसी ने आवश्यक कदम उठाए हैं। मेट्रो रेला का स्टेशन पर ठहरने का समय बढ़ा दिया गया है। ठहराव में दस सेकेंड की वृद्धि हुई है। पहले स्टेशन पर लगभग दस से 15 सेकेंड तक गाड़ी रुकती थी, लेकिन अब 20 से 25 सेकेंड तक ठहरेगी। इंटरचेंज स्टेशनों पर गाड़ी के ठहराव में 20 सेकेंड की वृद्धि की गई है। यानी अब ऐसे स्टेशनों पर लगभग एक मिनट तक गाड़ी ठहरेगी। लोगों से इस व्यवस्था का पालन कराने के लिए समय-समय पर अनाउंसमेंट भी की जाती रहेगी।

-एमएल तक का सेनिटाइजर रखें डीएमआरसी ने अपने यात्रियों से अपील की है कि अब स्टेशन पर जाने के लिए घर से दस से 15 मिनट पहले निकलें। ताकि एक गाड़ी निकल जाए तो दूसरी का इंतजार कर सकें। क्योंकि गाड़ी में प्रवेश डिस्टेंस को ध्यान में रखकर ही दिया जाएगा। हरेक यात्री अपने पास सेनिटाइजर की शीशी जरूर रखें लेकिन ये ध्यान रहे कि शीशी 30 एमएल से ज्यादा की न हो। यात्रा के दौरान कम से कम सामान रखें और मेटेलिक वस्तुएं भी न रखें। आरोग्य सेतु एप का इस्तेमाल जरूर करें, साथ ही फेस मास्क जरूर लगाना है। फिलहाल मेट्रो रेल में यात्रा पूरी तरह से कैशलैस होगी। स्मार्ट कार्ड के जरिये ही सफर किया जा सकता है और रिचार्ज प्रक्रिया भी कैशलैस होगी। एंट्र्री, एग्जिट प्वाइंट, चेकिंग प्वाइंट पर गाड़ी में प्रवेश करते वक्त गोल घेरे में खड़ा होना पड़ेगा।

-यात्रियों का इंतजार भी हुआ पूरा, खुश मेट्रो चलने की तिथि घोषित होने के बाद यात्रियों ने भी खुशी जताई है।

दरअसल, बहादुरगढ़ के हजारों लोग रोजाना दिल्ली-आते जाते हैं। इनमें से नौकरी पेशा वाले अधिक हैं। अनलॉक में काम धंधे तो चालू हो गए थे लेकिन मेट्रो नहीं चल रही थी। इस वजह से लोगों को आने-जाने में काफी दिक्कत हो रही थी। दैनिक यात्री राहुल गुप्ता ने बताया कि वह दिल्ली में जॉब करते हैं। फिलहाल अपनी गाड़ी से ड्यूटी जा रहे हैं। इससे समय तो ज्यादा लगता ही है, खर्चा भी बढ़ा है। मनीषा ने कहा कि मेट्रो का सफर सबसे अच्छा व सुगम है। कई दिनों से मेट्रो चलने का इंतजार है। आगामी 10 सितंबर से मेट्रो चलनी शुरू होगी तो उसी में ही सफर किया जाएगा। यात्रा के दौरान जो भी नियम-कायदे होंगे, उनका पालन करेंगे।

-नियमों का पालन करना पड़ेगा :

दयाल मेट्रो सात सितंबर से चलनी शुरू हो जाएगी। सभी तरह की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। एसी में फ्रेश एयर की मात्रा बढ़ाई जाएगी। इसके अलावा स्टेशनों पर पहले के मुकाबले अब गाड़ी ज्यादा समय ठहरेगी। अनाउंसमेंट और विज्ञापनों के जरिए लोगों को जागरूक किया जाएगा। निश्चित दूरी कायम रखने के लिए व्यवस्था बना दी गई है। सभी स्टेशनों पर लगभग 800 अधिकारियों व कर्मचारियों की टीम साफ-सफाई व सुरक्षा के इंतजामों का ख्याल रखेगी। स्टेशनों पर सीसीटीवी से भी निगरानी रखी जाएगी। सेनिटाइज के साथ-साथ यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी। यदि कोई यात्री बीमार मिला तो उसे सफर नहीं करने दिया जाएगा। यात्रियों के लिए गाइडलाइन जारी की गई है, जिसका सभी को पालन करना होगा। – अनुज दयाल, एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर, डीएमआरसी

Leave a Comment