कैप्टन अजय यादव बोले, हरियाणा की आर्थिक स्थिति गंभीर

गुरुग्राम-पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव का कहना है कि सीएजी की रिपोर्ट के अनुसार हरियाणा की आर्थिक स्थिति गंभीर है। टोटल रेवेन्यु कलेक्शन में पिछले साल के मुकाबले 31 प्रतिशत की भारी गिरावट आई है। जबकि रिवेन्यु डिफिसिट जो जुलाई में 1344 करोड़ था, अब बढ़कर 8437 करोड़ हो गया है। यह बड़ा ही गंभीर विषय है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को हरियाणा की अर्थ व्यवस्था संभालने की आवश्यकता है। कारोबार सुगमता रैंकिंग में भी हरियाणा प्रदेश तीसरे पायदान से फिसलकर अब 16वें पायदान पर पंहुच गया है। समय रहते हुए इन बातों पर ध्यान नही रखा गया तो ये पायदान ओर नीचे भी जा सकता है। कैप्टन अजय यादव ने कहा कि इस रैंकिंग से पता चलता है कि राज्य अपनी प्रणाली और प्रक्रियाओं के लिए क्या कर रहे हैं। यादव ने कहा कि भाजपा सरकार को काम यही है मुख्य मुद्दों से जनता को दूर रखते हैं और उनको अन्य मुद्दों में उलझाएं रखते हैं। आज देश की अर्थ व्यवस्था का बुरा हाल है। जीडीपी माइनस 24 में चली गई है। देश की बेरोजगारी इतिहास में सबसे ज्यादा है। उन्होंने कहा कि भारत की सरकार को कोविड 19 की तरफ ध्यान देने की जरूरत है। भारत देश अब ब्राजील को पीछे छोड़ते हुए नंबर दो की पॉजिशन पर पंहुच चुका है। जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की जनता को चीन से लड़ाई के मामले में भ्रमित कर रहे हैं। उन्हें अपनी अर्थ व्यवस्था और कोविड को देखना चाहिए। इसके अलावा सरकार को बेरोजगारी पर ध्यान देना चाहिए। जिन पदों पर परीक्षा हो चुकी हैं, उनके परिणाम घोषित करें और जिनके परिणाम भी घोषित हो चुके हैं उनको नियुक्तियां देने में विलंब नही करना चाहिए।

Leave a Comment