महाशिवरात्रि और अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर्वो को मनाया गया धूमधाम से

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के सेक्टर 12 स्थित ओमशान्ति भवन

में आज महाशिवरात्रि और अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस दोनों पर्वो को धूमधाम से मनाया गया।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से रिफाइनरी के कार्यकारी निदेशक की धर्मपत्नी सुगंधा मिश्रा,

राजयोगिनी सरला बहन, बीके सुनीता बहन एवं ज्ञान मानसरोवर निदेशक बीके भारत भूषण उपस्थित रहे।

कार्यक्रम के विषय “हर पल उत्सव” पर बोलते हुए ओमशान्ति भवन

संचालिका बीके सुनीता बहन ने कहा कि किसी भी त्योहार एवं उत्सव

के दिन सभी के अंदर एक उत्साह रहता है।

वही खुशी और उत्साह हमारे जीवन मे हर रोज रह सकता है

बशर्ते हम बीते हुए कड़वे अनुभवों को भुला दें। बार-बार उनको स्मृति में ना लाएं।

बीके बहन ने आगे कहा कि जीवन की सबसे अच्छी किताब हम स्वयं है,

इसको अच्छी तरह से समझें। खुद का सुधार सबसे बड़ी सेवा है।

सबसे पहले हमें अपने विचारों को बदलना है।

बीके भारत भूषण ने कहा कि किसी की कमी कमजोरी को जानते हुए

भी उससे घृणा ना करो, यही महानता है।

जगह जगह औरों के पास जाकर किसी व्यक्ति की

कमियों का वर्णन ना करें। वाक सयंम जरूर होना चाहिए।

पानीपत सर्कल इंचार्ज सरला बहन ने कहा कि इस शिवरात्रि

पर यह सच्चा व्रत जरूर ले कि हम कभी कड़वे बोल नही बोलेंगे।

अंदर जो भी कमी कमजोरियों है उनको शिव परमात्मा पर अर्पित कर दें।

अपने जीवन को सुखमय बनाने के लिए छोटे छोटे असूल बना लीजिए।

परमात्मा मदद उनकी करते हैं जो हिम्मत रखते हैं, इसलिये जीवन मे कभी थकना नही।

बतौर मुख्य अतिथि रिफाइनरी से आई सुंगन्धा मिश्रा ने अपनी शुभकामनाएं

देते हुए कहा कि नारी को शिव शक्ति कहा गया है।

अपने इस स्वमान को सदा स्मृति में रखो तो कभी स्वयं को कमजोर महसूस नही करेंगे।

कार्यक्रम के अंतिम चरण मे शिव परमात्मा का यादगार झंडा फ़हराया गया।

कुमारी स्वरिका ने स्वागत नृत्य प्रस्तुत किया और बीके गुलशन ने परमात्म स्मृति का भजन सुनाया

Leave a Comment