जरूरतमंदों के लिए समर्पित फूड सेवा क्लब

 

पानीपत (अमित जैन)

हर किसी को जीवित रहने के लिए जितनी आवश्यकता प्रकृति द्वारा मिली चीजों की है। उतनी ही आवश्यकता हमें भोजन की भी पड़ती है।क्योंकि जीवित रहने के लिए अति आवश्यक है।और जिसे पाने के लिए हर कोई अपने अपने कार्य शैली के अनुसार हर संभव प्रयासरत रहता है।

ताकि वह दो वक्त का भोजन पा सके।कई बार बहुत से लोगों के हालात ऐसे भी होते हैं जिन्हें केवल एक ही वक्त का भोजन मिल पाता है। अगर हम यहां पर कहे वह भूखा उठाता तो जरूर है लेकिन सुलाता नहीं है तो इसमें कोई संदेह नहीं होगा।

क्योंकि इस संसार रचयिता ने किसी ना किसी को उसकी मदद के लिए भेज ही देना है कहने को तो बहुत सारी सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाएं भी है जो विभिन्न विभिन्न क्षेत्रों में सेवाएं करती हैं।

लेकिन पानीपत की एक ऐसी ही संस्था जिसका नाम ही फूड सेवा क्लब है।और जिन का केवल एक ही सपना भूखा ना रहे कोई अपना जिसकी शुरुआत अक्षय मिगलानी ने अपने एक दोस्त की सोच के साथ सन 2016 में शुरू की थी। जिस समय बहुत कम लोग भी इस बारे में सोच पाते हैं उन्होंने बताया उस समय आर्थिक स्थिति काफी अच्छी नहीं थी। लेकिन मन में एक ही ख्याल था कि कोई भी जरूरतमंद व्यक्ति भूखा नहीं रहना चाहिए।

खुद से जितना कुछ बन पड़ा वह करेंगे और इसी सोच के साथ फूड सेवा क्लब का कारवां शुरू हुआ जो दो दोस्तों के साथ शुरू हुआ और वर्तमान में 400 से 500 लोग इससे जुड़ चुके हैं।

जोकि प्रत्येक रविवार को जरूरतमंद परिवारों को खाना खिलाने के साथ-साथ स्लम एरिया के प्रतिभावान बच्चों को पढ़ाई करवाने का काम भी करते हैं। क्योंकि बच्चे हर राष्ट्र का भविष्य होते हैं अगर ऐसे में प्रतिभाशाली बच्चे समाज को मिले तो अपने आप में गर्व की बात होगी।

वर्तमान कि विश्व कोरोना महामारी से तो सभी अवगत हैं। जिसके चलते 22 मार्च से पूरे भारत में लॉक डाउन किया गया है। हमारे देश में बहुत सारा तबका दिहाड़ी मजदूरों वाले लोगों का है।जो प्रतिदिन काम कर कर ही रोजी-रोटी जुटा पाते हैं।

लॉक डाउन होने के कारण उन्हें भूखा ना रहना पड़े इसके लिए सरकार व विभिन्न संस्थाएं तो काम कर ही रही हैं।लेकिन फूड सेवा क्लब का कार्य अपने आप में काफी सराहनीय तो है ही अन्य लोगों के लिए भी एक प्रेरणा है। उनके इस कार्य के लिए करनाल लोकसभा सांसद संजय भाटिया ने भी उन्हें ट्वीट कर बधाई देते हुए कहा कि वे निरंतर इसी तरह समाज हित के कार्य करते रहें।

अक्षय ने बताया कि लॉक डॉन के दौरान उन्होंने पानीपत शहर के विभिन्न कॉलोनियों में रहने वाले जरूरतमंद परिवारों को दो वक्त का भोजन पहुंचाने के साथ ही कच्चा राशन बांटा। और कोरोना महामारी से बचने के बारे में अवगत कराते हुए सभी जगह सोसल डिस्टेंस का पुरा विशेष ध्यान दिया। अक्षय ने कहा कि यह सब मैं अकेला नहीं कर सकता जिसके लिए क्लब के सभी सदस्य मिलकर मेरा हौसला बढ़ाते हैं और सभी मेरे कंधे के साथ कंधा मिलाकर हर कार्य में अपना सहयोग देते हैं। जिसके लिए मैं सभी सदस्यों का भी धन्यवाद करता हूं जो बिना किसी स्वार्थ के हमेशा समाजिक सेवा में ततपर रहते है। और भविष्य में भी इसी तरह से तत्पर रहेंगे।

इसी के साथ ही सभी देशवासियों से अपील की इस संकट की घड़ी में हम सभी को एकजुट होकर सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करना चाहिए। जिससे जल्द से जल्द इस महामारी पर विजय पाई जा सके और फिर से हमारा इंडिया मुस्कुराए।

Leave a Comment